GURUGRAM : सरकारी राशन विक्रेता की पहल, प्रवासी दिहाड़ी श्रमिकों को बांटे खाद्य सामग्री

सेक्टर-12 व राजीव नगर क्षेत्र में प्रवासी दिहाड़ी श्रमिकों के बीच खाद्य पदार्थ बांटते राशन विक्रेता राजेद्र कुमार धोबी।

पूर्ण लॉकडाउन के बाद रात में ही गरीबों की मदद को उठे हाथ। वार्ड 5 के सार्वजनिक राशन वितरण (पीडीएस) राजेंद्र कुमार धोबी ने स्थानीय इलाके में स्वयं के स्तर पर प्रवासी दिहाड़ी श्रमिकों के आवास जाकर आटा, चावल, दाल आदि खाद्य पदार्थ के पैकेट वितरित किए

गुरुग्राम गज़ट ब्यूरो/ Gurugram.

मंगलवार रात 8 बजे जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी के संक्रमण से देशवासियों को महफूज़ रखने को 21 दिनों के पूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया तो एक प्रकार से पूरे शहर में भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई। शहर में हल्की बारिश के बावजूद लोग घरों से निकलकर बाजार दौड़ पड़े। बुधवार से नवरात्रि शुरू होने को लेकर भी लोगों में जरूरी सामान खरीदने को लेकर भी अधिक सक्रियता दिखी। इन सबके बीच, वार्ड 5 में सरकारी राशन दुकान के संचालक राजेंद्र कुमार धोबी ने आटा, दाल, चावल दाल आदि खाद्य पदार्थ के पैकेट लेकर राजीव नगर व सेक्टर 12 के क्षेत्र में रह रहे प्रवासी दिहाड़ी श्रमिकों के निवास स्थल पर पहुंचे और कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों के बीच सभी के बीच वितरित किया।

दरअसल, राजेंद्र कुमार ने मंगलवार को ही हालात को देखते हुए स्वयं के संसाधन और आर्थिक क्षमता के मुताबिक प्रवासी श्रमिकों, झुग्गीवासियों के बीच दो किलो आठा, एक किलो चावल और आधा किलो दाल राहत के तौर पर नवरात्रि के मौके पर बांटने का निर्णय लिया। इसी बीच, प्रधानमंत्री के पूर्ण लॉकडाउन ऐलान के बाद मंगलवार रात को ही खाद्य राहत सामग्री लेकर प्रवासी श्रमिकों के निवास स्थल पर पहुंच गए।

इस दौरान उन्होंने कहा,  उनका प्रयास है कि प्रवासी दिहाड़ी श्रमिकों को कम से कम जरूरी खाद्य सामग्री मुहैया कराई ताकि इस विकट परिस्थिति में उन्हें संबल व भरोसा मिल सके। उन्होंने कहा, सुरक्षित उपायों के साथ उनका प्रयास होगा कि ऐसे लोगों की बीच जरूरी खाद्य सामग्री निशुल्क उनके निवास स्थान पर आगे भी पहुंचाई जाए ताकि वे परेशान न हों और सड़क पर न निकलें। उन्होंने यह भी कहा, उनका यह प्रयास समाज में दूसरे लोगों को प्रेरित करेगा कि और इस संकटकाल में अन्य लोग भी गरीबों की मदद को आगे आएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *