मोदी विचार और सामाजिक संदेशों के बल राजनीति में आगे बढ़ रहे नवीन गोयल

गुरुग्राम: कार्यकर्ताओं को निर्देश देते नवीन गोयल (फाइल फोटो)।

पर्यावरण संरक्षण और स्वचछ्ता जैसे मुद्दों का समाज व देश को कई जटिल समस्याओं से बचाने में अहम भूमिका। नवीन गोयल बोले, उपरोक्त मुद्दा अब सामाजिक ही नहीं राजनीतिक भी है।    

राकेश तिवारी/ गुरुग्राम गज़ट।

गुरुग्राम। कैनविन सामाजिक संस्था के जरिये स्वास्थ्य व चिकित्सा के क्षेत्र में समाज सेवा करने वाले नवीन गोयल अब दमदार तरीके से राजनीति के माध्यस से जनसेवा के लिए स्वयं के आगे किया है। गुरुग्राम विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के औपचारिक संभावित उम्मीदवार के रूप में अपने को प्रस्तुत कर रहे पार्टी के जिला सचिव नवीन गोयल ने गुरुग्राम गज़ट से बातचीत में राजनीति व समाजसेवा के क्षेत्र में अपनी प्राथमिकता को सामने रखा। गोयल ने कहा, दलीय लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था में राजनीति जनसेवा का बड़ा व सर्वमान्य माध्यम है। लाखों- करोड़ों लोगों का समर्थन प्राप्त कर उनकी आकांक्षाओं-उम्मीदों को पूरा करने की जिम्मेदारी लोकतंत्र पर है। वे भारत के बेहद लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विज़न को आगे बढ़ाने के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहे है, जिनका समर्थन गुरुग्राम की जनता तहेदिल रही है।

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले उम्मीदवार के रूप में दावेदारी जताने को लेकर पूछे गए सवाल पर नवीन गोयल ने कहा कि यह अचानक या अनायास नहीं है। समाजसेवा के रास्ते राजनीति में पार्टी के जिला सचिव जैसे पद पर मैं काम कर रहा हूं। लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था में किसी भी संवैधानिक संस्था के चुनाव का काल औपचारिक दावेदारी का सशक्त माध्यम है। इस नाते लोगों के सामने विकल्प के तौर पर हमारी मजबूत दावेदारी है और जनता का भारी समर्थन भी।

‘ग्रीन, क्लीन और फिट गुरुग्राम’ का आपका नारा परिवर्तन लाने में कितना सक्षम होगा जैसे सवाल के जवाब में नवीन गोयल ने कहा कि यह नारा जन जागरूकता का सूत्र है जो हमारे लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कृतित्व व विचार से प्रभावित है। जैसे संरचनात्मक विकास (सड़क, परिवहन, ब्रिज, फ्लाइओवर, भवन) की आवश्यकता हमेशा रहती है वैसे ही पर्यावरण की सुरक्षा, जल का संरक्षण, सिंगल यूज प्लास्टिक इस्तेमाल को बंद करना, स्वास्थ्य-सफाई जैसे मुद्दे व्यक्ति व प्रकृति के जीवन से जुड़ा है। वर्तमान में जो हालात है उसमें इन मुद्दों को इग्नोर करने का समय कब का बीत चुका है। जन-जागरूकता ही ऐसा सशक्त माध्यम है जिसके बल पर इन मुद्दों पर असर पड़ता है। अब तो यह राजनीतिक मुद्दा भी बन चुका है।

गुरुग्राम विधानसभा चुनाव में पार्टी की टिकट की दावेदारी का आधार और सफलता को लेकर पूछे जाने पर नवीन गोयल ने कहा कि मैं पार्टी का अनुशासित सिपाही हूं। दो दशक से ज्यादा समय तक समाजसेवा में हाथ बंटाने और लोगों के सुख-दुख में सहभागी बनने के व्यापक अनुभव के बाद कार्यकर्ताओं व समर्थकों ने काम करने के दायरे को बढ़ाने पर मुहर लगाई है। यह मानता हूं कि मिलने वाले अवसर और संसाधनों का सर्वांगिण विकास व जनसेवा में सबसे बेहतर इस्तेमाल मैं ही कर सकता हूं। इस पर गुरुग्राम के लोगों और हमारे कार्यकर्ताओं-समर्थकों को भी विश्वास है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *