चौधरी वीरेद्र सिंह की विधायक पत्नी और राव इंद्रजीत सिंह की बेटी को टिकट!

चौधरी वीरेंद्र सिंह-राव इंद्रजीत (फाइल-डिजाइन फोटो)

अन्य मौजूदा सांसदों-विधायकों के परिजनों को टिकट देने से बच रही बीजेपी।

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो/ नई दिल्ली।

हरियाणा विधानसभा चुनाव में टिकट के लिए सबसे ज्यादा मारामारी बीजेपी में है। टिकट को लेकर बीजेपी को दोतरफा दबाव झेलनी पड़ रही है। जहां एक तरफ पार्टी के वरिष्ठ नेता, पदाधिकारी व वर्तमान विधायक टिकट के लिए गणेश परिक्रमा में लगे हुए हैं वहीं, कई सांसद व विधायक अपने परिजनों को टिकट देने को लेकर लगातार दबाव बना रहे हैं। हालांकि, जो हरियाणा चुनाव को लेकर पार्टी मुख्यालय में हुई बैठक में जो बातें रखीं जा रहीं हैं उनमें कुछ अपवादों के बाद अन्य किसी भी सांसद व विधायकों के परिजनों को टिकट नहीं दी जाएगी।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, हरियाणा बीजेपी के जाट चेहरा चौधरी वीरेंद्र सिंह की पत्नी वर्तमान विधायक प्रेमलता को दोबारा टिकट दी जाएगी। उसी तरह से दक्षिण हरियाणा के अहीरवाल क्षेत्र के बड़े नेता माने जाने वाले सांसद व केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत भी अपनी बेटी आरती राव के लिए रेवाड़ी से टिकट मांग रहे हैं, जिसे पार्टी कुछ शर्तों के साथ देने को तैयार है। चुकि, राव इंद्रजीत का अहीरवाल के सात से आठ सीटों पर दखल है। ऐसे में उन्हें पूरी तरह से इग्नोर नहीं किया जा सकता। लेकिन पार्टी के कई वरिष्ठ नेता व मंत्री अपने परिजनों के लिए टिकट मांग रहे हैं। ऐसे में शर्तों की बात से उन नेताओं पर थोड़ा दबाव रहेगा।

सूत्रों के मुताबिक जो सांसद व केंद्रीय मंत्री अपने परिजनों के लिए टिकट मांग रहे हैं, उनमें केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर भी शामिल हैं। वे अपने बेटे व फरीदाबाद के डिप्टी मेयर देवेंद्र चौधरी के लिए टिकट मांग रहे हैं। सोनीपत के सांसद नरेश कौशिक अपने भाई देवेंद्र कौशिक के लिए गन्नौर से टिकट लेने की जुगत में हैं। कुरुक्षेत्र सांसद नायब सिंह सैनी अपनी पत्नी सुमन सैनी के लिए नारायणगढ़ विधानसभा से टिकट मांग रहे हैं। केंद्रीय मंत्री रतन लाल कटारिया अपनी पत्नी के लिए मौलाना से जबकि भिवानी सांसद धर्मवीर सिंह भी तोशाम से अपनों के लिए टिकट पाने की फेर में लगे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *